how to increase immunity power in body naturally in hindi


How to increase immunity power in body


सभी को नमस्कार, आज मैं आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताऊंगा जिनकी मदद से आप अपने शरीर में अपनी इम्युनिटी पावर को बढ़ा सकते हैं। हमारे शरीर की मजबूत प्रतिरक्षा हमें विभिन्न रोगों, वायरस और संक्रमण जैसे कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करेगी। मैंने नीचे विभिन्न तरीकों को सूचीबद्ध किया है:

शीर्ष 10 तरीके जिसके द्वारा आप अपने प्रतिरक्षा शक्ति वायरस और रोगों के साथ लड़ने के लिए आप में मदद मिलेगी जो वृद्धि:

• योगा करके।

• घरेलू उपचार द्वारा।

• विटामिन युक्त खाद्य पदार्थों को खाने से।

• सोने से और खुश रहने से।

• तनाव को काटकर।

• प्रोसेस्ड फूड खाने से बचें।

• एक्सरसाइज करने से।

• टीके लगाकर।

• हाइड्रेटेड रहने से।

• बुरी आदतों से बचकर।


योग 

योग हमारे शरीर को मजबूत और स्वस्थ बनाता है। योग आसन कई प्रकार के होते हैं। लेकिन, मैं आपको मुख्य योग आसन बताऊंगा जो आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे। यह तभी प्रभावी होगा जब आप इसे नियमित रूप से करेंगे। ये नीचे सूचीबद्ध हैं:

घर पर स्वाभाविक रूप से अपनी प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाने के लिए शीर्ष 6 योग आसन:


• भस्त्रिका।

• कपाल-भाटी।

• अनुलोम-विलोम।

• भ्रामरी।

• उदगीथ।

• सलम्बा शीर्षासन।

भस्त्रिका

Bhastrika to increase immunity power







कपाल-भाटी

Kapal-Bhati to increase immunity power












अनुलोम-विलोम

Anulom-Vilom to increase immunity power








भ्रामरी

Bhramari to increase immunity power










उदगीथ

Udgeeth to increase immunity power





सलम्बा शीर्षासन

Salamba Shirshasana to increase immunity power





घरेलू उपचार

घर पर प्राकृतिक रूप से अपनी प्रतिरक्षा बढ़ाने के लिए घरेलू उपचार सबसे अच्छे तरीकों में से एक हैं। घरेलू उपचार का कोई साइड इफेक्ट नहीं है और यह बहुत सरल है। मैंने नीचे कई घरेलू उपचार सूचीबद्ध किए हैं और वे बहुत प्रभावी हैं। वे आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने और कोरोना वायरस जैसे वायरस से लड़ने में आपकी मदद करेंगे। इन घरेलू उपचारों को बनाने में उपयोग किए जाने वाले तत्व बाजार या घर पर भी आसानी से उपलब्ध हैं।

Home remedie to increase immunity power

• इस होम रेमेडी को बनाने के लिए आवश्यक सामग्री हैं- तिनोस्पोरा कोर्डिफ़ोलिया (गिलोय), विथानिया सोम्निफेरा (अश्वगंधा), होली तुलसी (तुलसी), काली मिर्च पाउडर (केला मिर्च), हल्दी पाउडर (हल्दी) और अदरक (अदरक)। आपको एक छोटे कंटेनर में 3 मिनट के लिए दो कप पानी उबालना होगा। यह केवल दो व्यक्ति के लिए है और आपको इसे नियमित रूप से सुबह करना है। इस बीच, तिनोस्पोरा कोर्डिफ़ोलिया (गिलोय) और विथानिया सोम्निफ़ेरा (अश्वगंधा) के 10 सेमी स्टेम लें और इसे छोटे टुकड़ों में काट लें। उबालने के बाद इसे टीनोस्पोरा कोर्डिफ़ोलिया (गिलोय) और विथानिया सोम्निफ़ेरा (अश्वगंधा) के तने के टुकड़े लें और इसे कंटेनर में डालें, होली तुलसी (तुलसी) के 10 लीफ़्स, एक चम्मच काली मिर्च पाउडर (काली मिर्च), एक चम्मच हल्दी पाउडर (हल्दी) डालें। ) और कुचल अदरक (Adrak)। इसे 10 मिनट तक उबालें और अब यह तैयार है। इसे रोजाना सुबह पियें। इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। यह आपको घर पर प्राकृतिक रूप से अपनी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में मदद करेगा।

Turmeric powder (haldi) to increase immunity power


• अगले घर के उपचार के लिए आपको च्यवनप्राश, हल्दी पाउडर (हलदी), शिलाजीत और तीन-चौथाई गिलास दूध चाहिए। रात के समय, तीन-चौथाई गिलास दूध लें, एक चम्मच हल्दी पाउडर (हल्दी) डालें, एक चम्मच च्यवनप्राश डालें और एक चम्मच शिलाजीत डालें। इसे नियमित रूप से रात को सोने से पहले पिएं। यह आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाएगा और आपको मजबूत बनाएगा। यह प्रभाव दिखाता है, केवल अगर आप इसे रात के समय में नियमित रूप से पीते हैं।


Tea to increase immunity power

• अगला घर रेमेडी बहुत आसान है लेकिन इसका स्वाद अच्छा नहीं है। आपके पास 2 टेबल स्पून हल्दी पाउडर (हल्दी), 1 सेमी अदरक (अदरक) और 3 कप पानी बनाने के लिए ये सामग्री होनी चाहिए। आप एक कंटेनर में 3 कप पानी उबालना चाहते हैं और इसमें 2 टेबल स्पून हल्दी पाउडर (हल्दी) और 1 सेमी अदरक (अदरक) मिलाएं और इसे पांच मिनट तक उबालें। इसे उबालने के बाद इसे चाय की तरह पिएं। इसे कभी भी लेकिन रोज पीएं। यह आपको प्राकृतिक रूप से घर पर अपनी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में मदद करेगा। यह ग्रीन टी की तरह है।


Honey and Garlic to increase immunity power at home

•  यह घरेलू उपचार रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। आपके पास यह सामग्री दो चम्मच शहद (शाहद) और एक चम्मच छिलके वाली लहसुन (लहसून) बनाने के लिए होनी चाहिए। एक छोटे से कंटेनर में एक चम्मच छिलके वाली लहसुन (लहसून) और दो चम्मच शहद (शाहद) डालकर पांच दिनों के लिए फ्रिज में रखें। पाँच दिनों के बाद, इसे लें और खाएं। यह इम्यून बूस्टर का काम करता है। शहद में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं और घर में आपकी इम्युनिटी पावर को बढ़ाता है।




विटामिन रिच खाद्य पदार्थ

क्या आप जानते हैं कि विटामिन से भरपूर खाद्य पदार्थ हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को अधिक तेज और स्वाभाविक रूप से घर पर बढ़ा सकते हैं। मुख्य बात यह है कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। विटामिन से भरपूर खाद्य पदार्थ आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाते हैं और आपके शरीर को मजबूत बनाते हैं। हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने वाले मुख्य विटामिन हैं विटामिन ए, विटामिन डी और विटामिन ई। फलों और सब्जियों में मुख्य रूप से ये विटामिन होते हैं। मैंने कुछ खाद्य पदार्थों को सूचीबद्ध किया है जो आपको घर पर अपनी प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाने में मदद करते हैं।









सोना और खुश रहना


Sleep to increase immunity power

सोने के फायदे


एक शोध से पता चलता है कि नींद लेने से हमारी इम्युनिटी पावर बढ़ती है। नींद लेने से व्यक्ति की इम्युनिटी पावर बढ़ती है। आप जितना ज्यादा सोएंगे, आपकी इम्युनिटी पावर उतनी ही बढ़ती जाएगी।

जिन लोगों को पर्याप्त नींद नहीं मिलती, उनके बीमार पड़ने की संभावना होती है। हमें बहुत अधिक सोना नहीं है, हमें एक निश्चित समय सोना है। मैंने अपने आयु वर्ग के अनुसार लोगों के लिए आवश्यक नींद के घंटे सूचीबद्ध किए हैं।

बच्चों या 1-12 वर्षों में प्रति दिन 9-10 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है, न्यूनतम 9 घंटे और अधिकतम 11 घंटे प्रति दिन।

किशोर या 13-18 साल में प्रतिदिन न्यूनतम 9 घंटे और अधिकतम 11 घंटे प्रति दिन की नींद की आवश्यकता होती है।

वयस्कों या 19-100 को प्रति दिन न्यूनतम 7-8 घंटे और अधिकतम 9 घंटे प्रति दिन की नींद की आवश्यकता होती है।

इसलिए, मेरे प्यारे दोस्त रात में अपने दोस्तों के साथ गेम खेलना या चैट करना बंद कर देते हैं, यह आपको बीमार कर देगा और आपका समय बर्बाद करेगा।

खुश रहने के फायदे

Be happy to increase immunity power

हमारी मनोदशा भी हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में एक प्रमुख भूमिका निभाती है। एक शोध के अनुसार, जो लोग हमेशा निराश रहते हैं या हमेशा परेशान रहते हैं उनके बीमार पड़ने की बहुत संभावना होती है और जो लोग हमेशा खुश रहते हैं या हमेशा हंसमुख मूड में रहते हैं उनमें बीमार पड़ने का खतरा कम होता है। यदि हम खुश हैं, तो हमारा दिमाग हमारे शरीर को एंटी-बॉडी का उत्पादन करने में सक्षम बनाता है जो हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में सहायक है। आपको गाने सुनने, चुटकुले पढ़ने, अच्छी कहानियां पढ़ने और अपनी प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाने के लिए खुश रहने की कोशिश करनी चाहिए।



इसलिए, अंत में मैं आपको बताना चाहता हूं कि खुश रहें और दूसरों को खुश करने का प्रयास करें।


तनाव काटना 

तनाव काटने का मतलब है तनाव से मुक्त होना। तनाव भी शरीर को प्रभावित करते हैं और हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करते हैं। हमें हमेशा असामान्य तनावों से मुक्त होना चाहिए। तनाव की अधिकता से कुछ प्रकार के रोग हो जाते हैं जैसे अल्जाइमर रोग, माइग्रेन, मोटापा, हृदय रोग, मधुमेह, अवसाद, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं, डिप्रेशन, अस्थमा आदि।

Cutting stress to increase immunity power


आपके दिमाग में मुख्य सवाल यह उठता है कि हमें कैसे पता चल सकता है कि वह या वह वह तनाव से पीड़ित है। कुछ भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक संकेत हैं जो तनावग्रस्त लोगों की पहचान करने में आपकी मदद करेंगे।

तनाव के कुछ मनोवैज्ञानिक और भावनात्मक संकेत:


• बुरा निर्णय लेना।

• अभिभूत, असम्बद्ध, या अप्राप्य महसूस करना।

• नींद न आना या बहुत अधिक नींद आना।

• अवसाद या चिंता।

• आपकी याददाश्त या एकाग्रता में समस्याएं।

• रेसिंग विचार या निरंतर चिंता।

• गुस्सा, चिड़चिड़ापन या बेचैनी।

ये तनाव के मुख्य मनोवैज्ञानिक और भावनात्मक संकेत हैं। यदि आपको अपने मित्र या परिवार के सदस्य में संकेत मिलते हैं। आपको लगता है कि हमें क्या करना चाहिए हमें कोई टेबलेट नहीं लेनी है और न ही डॉक्टर के पास जाना है। आपको केवल इस सरल चरणों का पालन करना है।

Cutting stress to increase immunity power

घर पर अपने तनाव को प्रबंधित करने के लिए कदम इस प्रकार हैं:

• सबसे पहले आपको योग या ध्यान करना होगा। जो आपके दिमाग को शांत करने और आपके शरीर को मजबूत बनाने में आपकी मदद करेगा। इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। आपको रोजाना सुबह योगासन या ध्यान 20-25 मिनट तक करना चाहिए।

• हमेशा सकारात्मक दृष्टिकोण रखने की कोशिश करें। हर बार सकारात्मक सोचने की कोशिश करें।

• अपने खाली समय में आपको संगीत सुनना चाहिए, मालिश करना चाहिए और धुन में रहना चाहिए।

• एग्रेसिव के बजाय मुखर रहें और हर बार खुश रहने की कोशिश करें।

• प्रोसेस्ड फूड खाने के बजाय स्वस्थ और संतुलित भोजन लें।

• पर्याप्त नींद लें और अपने शरीर को आराम दें।

• तनाव से छुटकारा पाने के लिए शराब, ड्रग्स और सिगरेट न लें।

यह तरीके न केवल आपको तनाव को कम करने में मदद करेंगे, यह आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में मदद करेंगे।


प्रोसेस्ड फूड खाने से बचें













व्यायाम















टीके

जैसा कि आप दोस्तों को जानते हैं कि टीके केवल एक निश्चित बीमारी से लड़ने के लिए एंटी-बॉडीज के उत्पादन के लिए उपयोग किए जाते हैं। लेकिन, टीके का उपयोग प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने के लिए भी किया जाता है जो हमें खांसी, सर्दी, फ्लू, बुखार आदि मौसमी बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। मैंने कुछ टीकों के नीचे सूचीबद्ध किया है, जिन्हें आप अपनी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने के लिए ले सकते हैं। लेकिन, आपको इसे डॉक्टर से उचित परामर्श के साथ लेना चाहिए।

Vaccines to increase immunity power


शीर्ष 5 टीके जो आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को तेज़ी से बढ़ाने में आपकी सहायता करेंगे:


• इन्फ्लुएंजा का टीका: यह आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने और खांसी, सर्दी, फ्लू आदि मौसमी बीमारियों से लड़ने के लिए हर साल लिया जाना चाहिए, इसके दुष्प्रभाव नहीं होते हैं। लेकिन, आपको इसे डॉक्टर के परामर्श से लेना चाहिए।

• टी डाप वैक्सीन: यह हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने के लिए और हमें तीन जानलेवा बीमारी टेटनस, डिप्थीरिया और पर्टुसिस से बचाने के लिए उपयोग किया जाता है। इसे हर 10 साल बाद लिया जाता है। इसके साइड-इफेक्ट्स नहीं हैं। लेकिन, अपने आप को बचाने के लिए, आपको डॉक्टर से उचित परामर्श लेना चाहिए।

• न्यूमोकोकल वैक्सीन: यह मुख्य रूप से हमें रक्त संक्रमण, निमोनिया और न्यूमोकोकल संक्रमण जैसी बीमारियों से बचाने के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन, इसका उपयोग प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने के लिए भी किया जा सकता है। अलग-अलग आयु वर्ग के लोगों को अलग-अलग दर्जन दिए जाते हैं। इस टीके को लेने से पहले आपको डॉक्टर से उचित परामर्श लेना चाहिए। इस टीके के कोई दुष्प्रभाव नहीं हैं।

• टेटनस और डिप्थीरिया (टीडी) वैक्सीन: यह हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाता है, टेटनस द्वारा बनाए गए शरीर से विषाक्त को हटाता है और हमारे शरीर को घातक जीवाणु रोगों से बचाता है जो हमें साँस लेने में मुश्किल कर सकते हैं। इसे 10 साल के अंतराल के बाद सभी वयस्कों द्वारा लिया जाता है। टीके लेने के दौरान चकत्ते और नक़्क़ाशी जैसे इसके बहुत छोटे दुष्प्रभाव होते हैं। इसे लेने से पहले आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

 • मानव पेपिलोमावायरस (एचपीवी): यह मानव पेपिलोमावायरस से बचाने के लिए एक वैक्सीन श्रृंखला है। यह कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों के लिए भी पसंद किया जाता है। यदि आप 26 वर्ष से अधिक आयु के पुरुष या महिला हैं तो केवल आप इसे ले सकते हैं। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है लेकिन इसे लेने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

सभी टीके नेटमेड पर उपलब्ध हैं। यो वेबसाइट पर या नेटमेड्स पर क्लिक करके देख सकते हैं।


हाइड्रेटेड रहना













यदि आप अधिक लेख पढ़ना चाहते हैं, तो आप हमें इस पर अनुसरण कर सकते हैं:
फेसबुक  
पीन्टरेस्ट
ट्विटर  
इन्टस्टाग्राम



Post a Comment

0 Comments